Bullet Train Project in India | भारत के बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की जानकारी

Bullet Train Project in India: क्या आपको पता है भारत की फास्टेस्ट ट्रेन वन्दे भारत एक्सप्रेस की अधिकतम गति 180 किलोमीटर प्रति घंटा होने के बावजूद यह ट्रेन अपने रूट पर अधिकतम 130 किलोमीटर की गति पर ही दौड़ती है| इसका कारण है भारतीय रेलवे के अधिकतर बिछाए गए ट्रैक का इस गति के लिए न बना होना| लेकिन भारतीय रेलवे ने अब बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट द्वारा नए सिरे से काम शुरू कर दिया है| जापान के सहयोग से बनाए जा रहे हाई स्पीड रेल लाइन प्रोजेक्ट (यानि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट इन इंडिया) के पूरा होने पर, रेलगाड़ी 320 किलोमीटर प्रति घंटा की हाई स्पीड से दौड़ सकेगी| आइये जानते हैं बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के रूट, लागत और सभी जरुरी जानकारियां| 


  1. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट इन इंडिया 
  2. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की लागत (Bullet Train Project in India Cost)
  3. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के रूट मैप (Bullet Train Project in India route map)
  4. हाई स्पीड रेल लाइन प्रोजेक्ट की गति (Bullet Train Project in India Speed) 
  5. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट रेलवे लाइन किस गेज पर बन रही है (Standard Gauge)  
  6. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट रेलवे लाइन स्टेटस   


बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट इन इंडिया 

भारतीय रेलवे अपने पुराने ट्रैकों को हाई स्पीड रेल मानक में अपग्रेड करने का काम कर रही है| इसी के साथ भारत ने पब्लिक प्राइवेट पार्टर्नशिप (PPP) के तहत (DBFOT) डिज़ाइन, Build, फाइनेंस, ऑपरेट और ट्रांसफर के अनुसार हाई स्पीड रेल लाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया है| जापान के सहयोग से हाई स्पीड बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य को 2017 में ही हरी झंडी मिल गई थी| 

09 जून 2014 में इस प्रोजेक्ट को लॉन्च करने के बाद 12 फरवरी 2016 में नेशनल हाई स्पीड रेल कारपोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) का गठन किया गया| इस पुरे प्रोजेक्ट को चरण बद्ध तरीके से करने की योजना है| इसमें दिल्ली-मुंबई हाई स्पीड रेल कॉरिडोर को दो चरण में किया जाएगा| जिसके पहले चरण और भारत के पहले मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर का निर्माण शुरू हो चूका है| इसके साथ कई और दूसरे रूटों पर हाई स्पीड रेल कॉरिडोर को मंजूरी मिल चुकी है और कई रुट्स प्रस्तावित चरण में हैं| इस परियोजना से भारत के रेल यातायात में तेजी तो आएगी ही साथ ही उसकी अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन भी मिलेगा| 

bullet project in india     

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की लागत (Bullet Train Project in India Cost)

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट में एक किलोमीटर के रेलवे ट्रैक के निर्माण पर लगभग 100 करोड़ रूपए का खर्च आ रहा है, जो भारत की पुराने ट्रैक की औसतन लागत के 10 गुना तक है| वर्तमान में चल रहे मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर में 65000 करोड़ लागत लगने का अनुमान है|      

mumbai-ahmedabad bullet train station

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के रूट मैप (Bullet Train Project in India route map)

गोल्डन क्वाड्रीलेटरल एक्सप्रेसवे सिस्टम की तर्ज पर भारत के चार महानगरों को हाई स्पीड रेल लाइन कॉरिडोर से जोड़ने के बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के कार्य को डायमंड क्वाड्रीलेटरल हाई स्पीड नेटवर्क भी कहा जाता है| भारत में बन रहे या बनाए जाने वाले हाई स्पीड रेल लाइन कॉरिडोर की जानकारी इस प्रकार है|  



 हाई स्पीड कॉरिडोर  लम्बाई (KM)  स्टेटस 
 मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर 508  कार्य प्रगति पर है 
 दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर   865     डी.पी.आर बन रही है    
 मुंबई-नागपुर हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  883    डी.पी.आर बन रही है 
 वाराणसी-पटना-हावड़ा हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  787 मंजूरी मिल चुकी है 
 दिल्ली-चंडीगढ़-अमृतसर हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  450       मंजूरी मिल चुकी है 
 दिल्ली-उदयपुर-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर886  प्रस्तावित 
 मुंबई-हैदराबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  747 मंजूरी मिल चुकी है 
 चेन्नई-बेंगलुरु-मैसूरु हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  435       मंजूरी मिल चुकी है 
 पटना-गुवाहाटी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर850  प्रस्तावित  
 नागपुर-वाराणसी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर  855     प्रस्तावित  
 हैदराबाद-बेंगलुरु हाई स्पीड रेल कॉरिडोर618 प्रस्तावित  


हाई स्पीड रेल लाइन प्रोजेक्ट की गति (Bullet Train Project in India Speed)     

वर्तमान में चल रहे मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर पर जापान की E5 सीरीज की ट्रेन चला करेगी जिसकी अधिकतम गति 300 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक होगी| इस प्रकार हाई स्पीड रेल लाइन प्रोजेक्ट के पूरा होने पर भारत में बुलेट ट्रेन का चलना आरम्भ हो जाएगा| 


बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट रेलवे लाइन किस गेज पर बन रही है (Standard Gauge)  

भारत में सभी सेमी-हाई स्पीड ट्रेन ब्रॉड गेज ट्रैक(1.676 मीमी.) पर चलती हैं| वर्तमान में पुराने ब्रॉड गेज ट्रैकों को हाई स्पीड पर अपग्रेड करने के साथ, नए ब्रॉड गेज ट्रैक हाई स्पीड रेल लाइन के अनुसार बिछाए जा रहे हैं| जापानी शिंकानसेन (बुलेट ट्रेन) तकनीक की मदद से बन रहे हाई स्पीड रेल लाइन प्रोजेक्ट को स्टैण्डर्ड गेज (1.435 मीमी.) ट्रैक में बनाया जा रहा है, जिस कारण इन नए ट्रैक और पुराने अपग्रेडेड ट्रैक में रेलगाड़ियों का किसी भी प्रकार से इंटरचेंज संभव नहीं होगा| इन पर जापान की E5 सीरीज की बुलेट ट्रेन चलेगी| यह रेलगाड़ी 320 किलोमीटर की गति पर संचालन कर सकती है|  


बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट रेलवे लाइन स्टेटस   

वर्तमान में (अगस्त 2022) मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के दादर और नगर हवेली में सौ प्रतिशत, गुजरात में 98.8 प्रतिशत और महाराष्ट्र में 75 प्रतिशत भूमि अधिग्रहण कर लिया गया है| इसके साथ ही 162 किलोमीटर का पाइलिंग कार्य और 79.2 किलोमीटर पियर (खम्बों) का कार्य पूरा हो चूका है|   
bullet train status

भारत का बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट 25 पैकेज में बनाया जाना है| मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के 47 प्रतिशत भाग (237 किलोमीटर) जो कि C-4 प्रोजेक्ट के अंतर्गत वापी से वड़ोदरा के बीच बनाया जा रहा है, कि कुल लागत 25 हज़ार करोड़ बताई गई है| इस रूट पर चार स्टेशन वापी, बिल्लीमोरा, सूरत और भारुच के साथ 24 रिवर और 30 रोड क्रासिंग हैं| यह सी-4 पैकेज भारत की L&T कंपनी को मिला है| इस पैकेज में बन रहे सूरत स्टेशन की थीम डायमंड और वड़ोदरा स्टेशन की थीम Banyan Tree होगी| 

Post a Comment

0 Comments